देवनागरी में लिखें

                                                                                             देवनागरी में लिखें

Saturday, 25 February 2012

" हक़ है पगलाने का "

कुछ तो आप सोच रहे होंगे.... ? बेटा ने एक गाड़ी क्या ली , ये तो वावरी हुई जा रही है ,पागल है ,रोज ,हजारों लोग गाड़ी लेते हैं , इसमें इतना इतराने की क्या बात है.... ?
तो बताऊँ.... ?
मेरी ननद की शादी के दुसरे दिन पुरा बाराती "माड़ो"(मंडप,जिसके नीचे शादी की रस्मे होती है) में आये दोपहर का खाना खाने,तो मैं अगले रस्म के लिए अपने कपडे बदलने चली ,अभी  साड़ी हाथ में ली ही थी कि,शोर मचा राहुल(Mehboob - मेरा बेटा 2साल  का) बेहोश हो गया ,भागते-भागते पहुंची तो बेटे को उसकी दादी गोद मे ली थी और वो बेहोशी की हालत मे दादी का पुरा आँचल घोट  रहा था , बाराती मे एक डाक्टर थे वे बोले जल्दी से आपलोग इस  बच्चे को  अस्पताल ले  जाइए मामला  बहुत गंभीर है.... मैं और मेरे पति अपने बेटे के साथ अस्पताल गए ,इलाज हूआ....... , दोपहर से रात....... , रात से सुबह....... ,सुबह से दोपहर....... ,तब  बेटे को होश आया......... , और ये परेशानी मेरा बेटा बचपन से 16 साल के आयु तक भोगा.......... ,  इन चंद शब्दों से आप उन सालो के कष्ट को आंकलन कर पायें तो आज  के  मेरे इस पागलपन को समझ पायें......... हाँ-हाँ-हाँ........ हाँ-हाँ-हाँ........ " हक़ है पगलाने का "

16 comments:

अनुपमा पाठक said...

यूँ ही खुश रहे आप!
Best wishes to ur son... and Congrats नयी गाड़ी के लिए!

Vibha Rani Shrivastava said...

thank you ji.... !! bahut khushi hooi.... !!

sangita said...

Best wishes to ur son. and Congrats

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

इतना हक तो बनता है आंटी :)
नयी गाड़ी के लिए बहुत बहुत बधाई!

सादर

रश्मि प्रभा... said...

बच्चे के जीवन को कतरा कतरा जीती है एक माँ .... और उसकी उपलब्द्धियां किसी भी उम्र में पायल पहना जाती है .... दिल कहता है , अब मेरी चाल देख ले .... कहे कोई पागल , मेडल ही है यह पागलपन

Kailash Sharma said...

ये खुशियाँ ही तो पगलाने का हक़ देती हैं...शुभकामनायें!

वन्दना said...

्सच कह रही हैं आप …………हक है पगलाने का ………नयी गाडी की बधाई बेटा हमेशा खुश और सुखी रहे।

प्रेम सरोवर said...

बहुत सुंदर प्रस्तुति । Welcome to my New Post.

Vibha Rani Shrivastava said...

आप सभी की दिल से आभारी हूँ.... !! आपलोगों का बहुत-बहुत धन्यवाद.... :):)

तू सवेरा ज़ुदा है माँ said...

bahut bahut badhai :)

Pallavi said...

न केवल आपका बल्कि हर माँ का हक़ बनता है अपने बच्चों की उपलब्धियों पर इतराने का फिर वो चाहे इस दुनिया के लिए साधारण सी बात ही क्यूँ न हो। नई गाड़ी के लिए शुभकामनायें बस यूं ही सदा खुश रहा कीजिये.....

avanti singh said...

bilkul hak hai ji paglaane ka,aur jo khushiyon me paglaate nahi wo sach me paagl hote hai,main smjh sakti hun ,maa ke liye apne bete ka pagalpan,aap ko aur bete ko khub bdhaai

Atul Shrivastava said...

आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है। चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं.... आपकी एक टिप्पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

Udan Tashtari said...

खुशियाँ बनी रहें.

Anju said...

bs wahi kehna chahti hun jo rashmi ji ne kaha ........bdhai ...../abhavo mein jb maa bchho ko palti hai to ...unki chhoti chhoti khushi ka bhi anand maanti hai .......lagta hai jhan mil gya ....../ek maan yun hi khush hoti rhe .....ye anand ka pagalpn yun hi bna rhe ...../yun hi khushiya milti rhe ...../

भावना said...

BETE KI UPLABDHI PAR MERI BADHAI BHI SWEEKAR KARIYE :)